SEARCH SOME THING...

गुरुवार, 19 जुलाई 2018

सौरमंडल के सबसे बड़े ग्रह में मिले 10 नए चन्द्रमा, वैज्ञानिकों ने ऐसे की खोज

सौरमंडल के सबसे बड़े ग्रह में मिले 10 नए चन्द्रमा, वैज्ञानिकों ने ऐसे की खोज
वैज्ञानिकों ने बृहस्पति ग्रह की परिक्रमा कर रहे 12 नये चंद्रमा की खोज की है.
वैज्ञानिकों ने बृहस्पति ग्रह की परिक्रमा कर रहे 12 नये चंद्रमा की खोज की है. इसके साथ ही सौर मंडल के सबसे बड़े ग्रह के प्राकृतिक उपग्रहों की संख्या 79 हो गयी है. अमेरिका में कार्नेगी विज्ञान संस्थान के स्कॉट एस शेफर्ड की अगुवाई में शोधकर्ताओं ने प्लूटो से आगे विशाल ग्रह की मौजूदगी की तलाश करने के दौरान पिछले साल पहली बार इन चंद्रमाओं को ढूंढा था.
 
शेफर्ड ने बताया कि आकाश में बृहस्पति हमारी खोज क्षेत्र के नजदीक स्थित था जबकि हम बहुत दूर स्थित सौर मंडल के पिंड को तलाश रहे थे. इसी बीच हमें बृहस्पति के चारों तरफ नये उपग्रह दिखायी दिये. इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन के ग्रेथ विलियम्स ने बताया कि बृहस्पति के चारों तरफ कक्षा में एक पिंड की पुष्टि के लिए कई दफा अवलोकन किया गया। इसलिए पूरी प्रक्रिया में एक साल लग गया.


https://www.kvskidszone.in/2018/07/10.html0
 
नये चंद्रमा में से नौ तो एक ही झुंड में मिले जो बृहस्पति के घूमने की विपरीत दिशा में चल रहे थे. वहीं , दो नये चंद्रमा बृहस्पति के घूमने की दिशा में ही चल रहे थे.

वैज्ञानिकों को सौरमंडल से बाहर एक ग्रह पर पानी और धातु के सुराग मिलेलंदन: वैज्ञानिकों ने सौरमंडल से बाहर स्थित एक ग्रह पर कई धातुओं की मौजूदगी के सुरागों का पता लगाने के साथ ही यहां पानी होने के संभावित संकेतों की पहचान की है. यह ग्रह अभी तक खोजा गया सबसे कम घनत्व वाला बाहरी ग्रह है. ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज और स्पेन के इंस्टीट्यूटो डे एस्ट्रोफिजिका डे केनरियास की टीम ने ग्रेन टेलीस्कोपियो केनरियास का इस्तेमाल कर डब्ल्यूएएसपी-127 बी का अवलोकन किया. बड़े आकार के इस ग्रह का आसमान आंशिक रूप से साफ है और इसके वायुमंडल में धातुओं की मौजूदगी के ठोस संकेत मिले हैं.



टिप्पणियां
अपने ही ग्रहीय वंशजों को खा रहा है सूर्य की तरह दिखने वाला ये तारा, खगोलविदों ने की खोज
अपने ही ग्रहीय वंशजों को खा रहा है सूर्य की तरह दिखने वाला ये तारा, खगोलविदों ने की खोज
प्रतीकात्मक तस्वीर
वाशिंगटन: खगोलविदों ने ऐसे तारे की खोज की है, जो अपने ग्रहीय वंशजों को निगल रहे हैं. खगोलविदों ने सूर्य की तरह के एक तारे की खोज की है जो धीरे-धीरे अपने ‘वंशजों’ को निगल रहा है. यह तारा अपनी कक्षा में एक या अधिक ग्रहों को गैस और धूल की भारी घटाओं में तब्दील कर रहा है. यह तारा पृथ्वी से तकरीबन 550 प्रकाश वर्ष की दूरी पर है.

इस दूरस्थ तारे का नाम आरजेड पीसियम है. यह मीन नक्षत्र में स्थित है. एस्ट्रोनॉमिकल जर्नल में प्रकाशित खोज हमारी सौर प्रणाली समेत कई सौर प्रणालियों की संक्षिप्त किंतु अस्थिर अवधि पर प्रकाश डाल सकता है. अमेरिका में इंडियाना यूनिवर्सिटी की कैथरीन पिलाचॉवस्की ने कहा, ‘हम जानते हैं कि यह ग्रहों के लिये असामान्य नहीं है कि वे युवा सौर प्रणाली की ओर बढ़ें क्योंकि हमने ‘गर्म बृहस्पति’ के साथ कई सौर प्रणालियां पाई हैं. गर्म बृहस्पति गैसीय ग्रह है जो आकार में बृहस्पति के समान है, लेकिन परिक्रमा अपने तारों के बेहद करीब करता है.’

यह भी पढ़ें - 

सौरमंडल के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी और रोचक तथ्य




पिलाचोवस्की ने कहा, ‘यह ग्रह व्यवस्था के विकास में बेहद दिलचस्प चरण है और हम सौभाग्यशाली हैं कि हमने प्रक्रिया के मध्य में सौर प्रणाली को पकड़ा है क्योंकि यह तारों के जीवनकाल की तुलना में बेहद तेजी से होता है.’



सौर मंडल से जुड़े कुछ रोचक महत्वपूर्ण तथ्य (Some facts about Solar system)





कोई टिप्पणी नहीं:

YOU CAN COMMENT/SEND/CONTACT US HERE

नाम

ईमेल *

संदेश *