SEARCH SOME THING...

शनिवार, 17 मार्च 2018

बात पते की:धड़कन की रफ़्तार धीमी है तो आप निडर हैं

इंसान की शख़्सियत कई चीज़ों से मिलकर बनती है. हमारी पढ़ाई-लिखाई, खाना-पान, उठने-बैठने, बोलने-चालने का तरीक़ा आदि से शख़्सियत का निर्माण होता है. इन्हीं की बुनियाद पर हम किसी के बारे में राय बना लेते हैं.
मसलन अगर कोई सब से हंसकर बात करता है तो हम उसे ख़ुशमिज़ाज कहते हैं. अगर कोई अपने आस पास बहुत सफ़ाई रखता है तो हम उसे नफ़ासत पसंद कहते हैं.
लेकिन ये हमारी शख़्सियत के ज़ाहिरा पहलू हैं. दरअसल हमारा असल किरदार सब से छिपा रहता है. और इसकी जड़ें हमारे में ही कहीं छिपी होती हैं.

आइए जानते हैं एक-एक करके-

दुनिया के गुलशन अलग-अलग शख़्सियत

दुनिया के गुलशन अलग-अलग शख़्सियत


कोई टिप्पणी नहीं:

YOU CAN COMMENT/SEND/CONTACT US HERE

नाम

ईमेल *

संदेश *