SEARCH SOME THING...

शुक्रवार, 20 अक्तूबर 2017

मेरा पालतू पशु पर निबंध | Essay on My Pet Animal in Hindi! ( DOG) My Favorite Animal)

मेरा पालतू पशु पर निबंध | Essay on My Pet Animal in Hindi!
Article shared by : kvskidszone


मानव समुदाय अनेक प्रकार के पशु-पक्षियों को आवश्यकता और शौक के लिए पालता है। मेरे परिवार में एक कुत्ते को पाला गया है। यह मेरा पालतू पशु है।




  • मेरे कुत्ते का नाम शेरू है । 
  • यह सजग होकर घर की पहरेदारी करता रहता है ।
  •  यह परिचित व्यक्तियों को देखकर दुम हिलाता है और अजनबियों को देखकर गुर्राता एवं भौंकता है । 
  • जरा-सी आहट पाकर यह चौकन्ना हो जाता है । 
  • शेरू घर गिन और छत पर चहलकदमी करता रहता है । 
  • यह बँधा रहना पसंद नहीं करता, हर समय स्वच्छंद होकर घूमना चाहता है ।
  •  परंतु जब घर का कोई सदस्य इसे लेकर बाहर जाता है तो इसके गले में जंजीर डाल दी जाती है ।

  • शेरू भूरे रंग का है । 
  • यह ऊँचे कद का तथा अच्छी नस्ल का कुत्ता है ।
  •  इसकी दुम कटी हुई है ।
  •  यह दिखने में आकर्षक लगता है ।
  •  इसमें गजब की फुर्ती और शक्ति है ।
  •  इसकी हरकतें मनभावन हैं ।
  •  यह डबलरोटी, घर की रोटी, दूध, मांस, अंडा, चावल आदि खाता है ।
  •  मेरे घर में इसके खाने-पीने और रहने का उचित ध्यान रखा जाता है ।
  •  इसे समय पर रेबीज का टीका दिया गया है ताकि यह स्वस्थ रहे और दूसरों को छूत की बीमारी न फैला सके । यह जब कभी बीमार पड़ता है तो पिताजी इसे पशु चिकित्सक के पास ले जाते हैं ।
  •  बीमारी की स्थिति में यह उदास-सा हो जाता है ।
  •  इससे घर में भी उदासी छा जाती है । 
  • परंतु इसके स्वस्थ होते ही घर की रौनक लौट आती है ।
  • शेरू बहुत होशियार है ।
  •  यह हमारे संकेतों और इशारों को भली- भांति समझता है और तदनुरूप आचरण करता है ।
  •  इसकी स्वामिभक्ति के सभी कायल हैं । 
  • किस समय खुश होना है, किस समय अपनी भक्ति प्रदर्शित करनी है, कब शांत होकर बैठ जाना है, इसका इसे पूरा ज्ञान है ।
  •  यह हमारे परिवार के एक सदस्य की तरह है ।
  •  जब यह छोटा-सा था, उसी समय पिताजी इसे खरीदकर घर लाए थे ।
  •  अब यह काफी बड़ा हो गया है ।
  •  यह हृष्ट-पुष्ट और तंदुरुस्त है ।

  • मैं अपने पालतू कुत्ते के साथ सायंकाल घूमने जाता हूँ । 
  • मैं इसे लेकर गलियों, मोहल्लों व पार्कों में जाता हूँ । 
  • उस समय यह बहुत प्रसन्न दिखाई देता है ।
  •  यह उछलता है, कूदता है और रास्ते में पड़ी चीजों को सूँघता है ।
  •  उसके इन क्रियाकलापों के माध्यम से मेरा भी अच्छा-खासा व्यायाम और मनोरंजन हो जाता है ।
  •  पिताजी इसे साथ लेकर प्रात काल सैर पर जाते हैं ।
  •  उस समय माँ भी उनके साथ होती है ।
  •  इस तरह शेरू पूरे परिवार के लिए सैर का एक बहाना बन गया है ।

  • शेरू सफाई पसंद पशु है ।
  •  इसे नहाना और साफ-सुथरा रहना पसंद है । 
  • यह मल-मूत्र आदि का त्याग करने घर के पिछवाड़े में चला जाता है । 
  • घर में कभी भी गंदगी नहीं फैलाता ।
  •  शेरू मेरा मित्र है ।
  •  सुख – दु: ख में यह परिवार का भागीदार है । 
  • इसके रहते चोर-उचक्के मेरे घर में घुसने का साहस नहीं करते ।
  •  दिन-रात यह घर की हिफाजत करता रहता है ।

  • इस प्रकार शेरू मेरे परिवार का अभिन्न अंग है ।
  •  वह घर की शान बढ़ाता है ।
  •  वह सशक्त पहरेदार एवं मेरे परिवार का शुभचिंतक है । 
  • उसकी सेवाओं के प्रतिफल में हम लोग भी उसका पूरा ध्यान रखते हैं ।


कोई टिप्पणी नहीं:

YOU CAN COMMENT/SEND/CONTACT US HERE

नाम

ईमेल *

संदेश *