SEARCH SOME THING...

सोमवार, 2 अक्तूबर 2017

2 अक्टूबर का इतिहास


1492 - ब्रिटेन के किंग हेनरी सप्तम ने फ्रांस पर आक्रमण किया।
1869 - राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म हुआ।


1904 - पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्म हुआ।
1924 - राष्ट्रसंघ को शक्तिशाली बनाने के उद्देश्य से लाया गया जेनेवा प्रस्ताव।
1924 - महासभा द्वारा स्वीकृत हुआ किंतु बाद में उसकी पुष्टि नहीं हुई।
1951 - श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने भारतीय जनसंघ की स्थापना की।
1952 - सामुदायिक विकास कार्यक्रम की शुरूआत हुई।
1961 - बम्बई (अब मुंबई) में शिपिंग कारपोरेशन ऑफ इंडिया का गठन।
1982 - तेहरान में बम विस्फोट से 60 मरे, 700 घायल।
1985 - दहेज निषेधाज्ञा संशोधन अधिनियम अस्तित्व में आया।
1988 - दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल में 24वें ओलंपिक खेलों का समापन।
2001 - 19 देशों के संगठन नाटो ने अफ़ग़ानिस्तान पर हमले के लिए हरी झंडी दी।
2004 - संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने कांगों में 5900 सैनिक भेजने का प्रस्ताव मंजूर किया।
2006 - दक्षिण अफ़्रीका ने परमाणु ईधन आपूर्ति मामले पर भारत को समर्थन देने का फैसला किया।
2007 - उत्तर तथा दक्षिण कोरिया के बीच दूसरी शिखर बैठक सम्पन्न हुई।
2012 - नाइजीरिया में बंदूकधारियों ने 20 छात्रों की हत्या की।-एजेंसी

इतिहास में आज: 2 अक्टूबर

भारत समेत संपूर्ण विश्व में आज महात्मा गांधी के जन्मदिन को अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाता है. वह विश्व में सत्य और अहिंसा के प्रेरणास्रोत और भारत में स्वतंत्रता संघर्ष के सूत्रधार के रूप में याद किए जाते हैं.
default
बड़ी से बड़ी लड़ाई को सत्य और अहिंसा के रास्ते जीतने का बड़ा सीधा सा मंत्र बताने वाले मोहनदास कर्मचंद गांधी का जन्म गुजरात के पोरबंदर में 2 अक्तूबर 1869 को हुआ. उन्हें दुनिया भले ही महात्मा बुलाती रही, लेकिन खुद वह इसकी ज्यादा परवाह नहीं करते थे. वह कोई मेधावी छात्र नहीं थे. लंदन में कानून की पढ़ाई करने के बाद उन्होंने कुछ दिन बंबई में वकालत का काम खोजने की कोशिश की, फिर 1893 में दक्षिण अफ्रीका चले गए. और वहां उनका सामना नस्ली भेदभाव से हुआ. दक्षिण अफ्रीका में रह रहे 60 हजार भारतीयों के लिए उन्होंने इंडियन ओपीनियन नाम का अखबार निकाला. और यहां से गांधी का एक शर्मीले और बहुत कम सामाजिक इंसान से सक्रिय और बेबाक नेता के रूप में रूपांतरण शुरू हुआ.
1914 में गांधीजी भारत लौटे और 1920 में वह कांग्रेस के नेता बन गए. 1930 में नमक सत्याग्रह के रूप में उन्होंने अपने अहिंसक आंदोलन का चमत्कारिक प्रदर्शन किया. दांडी मार्च ने अंग्रेज सरकार को अचंभित कर दिया. 1942 में गांधीजी ने पूर्ण स्वराज की मांग की जिसके लिए उन्हें जेल जाना पड़ा.
गांधी से प्रेरित होने वाले लोगों में मार्टिन लूथर किंग जूनियर और नेल्सन मंडेला से लेकर दलाई लामा और आंग सान सू ची तक हैं. यहां तक कि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा बड़े गर्व से गांधीवादी होने का दावा करते हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

YOU CAN COMMENT/SEND/CONTACT US HERE

नाम

ईमेल *

संदेश *